top of page
Stationery

Personal Branding & Freshers




Branding word सुनते ही हमारे दिमाग में सबसे पहले marketing आ जाता है, हैना ?  हमे लगता है कि अगर हम किसी चीज़ की marketing कर रहे है तो हम उसकी branding कर रहे है, लेकिन ऐसा नही है | Branding किसी चीज़ की marketing से काफ़ी ज्यादा होता है | Branding का मतलब company के products और services के बारे में लोगों तक इस तरह information पहुँचाना है कि वो सिर्फ brand के logo से उसको guess कर लें | 


अब आप कहेंगे कि ये branding की बातें हम क्यों जाने हम तो इस field से हैं भी नही (कुछ तो हैं वैसे), ये हमारी एक और गलतफ़हमी है, हमे लगता है कि branding सिर्फ companies की होती है लेकिन ऐसा नही है, इंसानों की भी branding होती है | हम किसी के traits सुन कर ही जान जाते है कि किस के बारे में बात हो रही है, जैसे class में सबसे ज्यादा gossip कौन करता है (आ गया ना दिमाग में नाम !!)? ऐसे ही किसी के behaviour और attitude से उसका brand बन जाता है लोगों के दिमाग में, ऐसा सिर्फ personal ही नही professional life में भी होता है |


हम लोग अक्सर jobs for freshers के बारे में बात करते है लेकिन क्यों ना आज हम लोग branding for freshers के बारे में बात करे | Freshers के लिए branding एक task की तरह होती है, वो new होते है और उनके नाम से ज्यादा लोग उनके बारे में कुछ नही जानते | लेकिन जब आप अपने identity बना लेतें हैं तो सबको पता होता है कि कौन से काम के लिए आप से contact किआ जा सकता है |


Freshers के लिए personal branding काफी important होती है, जिसका सबसे बड़ा benefit होता है कि आपके अच्छे professional connections बनते हैं और साथ ही आपके superiors आपको tasks के लिए responsible समझते हैं | Personal branding आपकी professional growth में एक सीढ़ी का काम करती है | Personal branding होती क्या है, ये तो आप समझ ही गये होंगे तो अब जानते हैं कि खुद को एक brand कैसे बनाया जा सकता है… 



Personal Branding के तरीक़े : 


  • Accept yourself  


हम लोग अपने अन्दर कितनी सारी problems देख लेते हैं, कि हम में ये कमी है, हमे वो नही आता, etc. लेकिन पता है सबसे बड़ी problem असल में क्या है? कि हम न तो सही से खुद को जानते हैं और न ही खुद को सही से accept कर पाते हैं | इसीलिए जरूरी है कि पहले आप खुद को समय दें और अपने आप को जानें |


कोई भी perfect नही होता, इसलिए अपना area of improvement, culture, strength, personality, surrounding, etc. को accept करना सीखें और उन्हें neglect करने की जगह उनसे help लें और अपने growth पर focus करें, क्योंकि जब हम जैसे हैं,वैसे ही खुद को accept कर लेते हैं,तो हमारा confidence भी हमारी personality में दिखता है |



  • Share your Views


हर किसी का अपना एक point of view होता है, जिसे कुछ लोग बहुत आसानी से share कर लेते हैं और कुछ को हिचक लगती है, इस हिचक को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका “communication” है, आप जितना लोगों से बात करेंगे उतना ही improvement आपके confidence में आयेगा | जब आप लोगों से communicate करतें हैं, तो आपकी knowledge बढती है, अपना point of view बनता है, जिसको आप लोगों से share करते हैं, ऐसा जरूरी नही कि सब आप से agree करें, लेकिन उसके through भी आपकी knowledge बढती है | 


लेकिन इस बात का ध्यान रखना भी जरूरी है कि हर topic के बारे में आपको पता हो ऐसा जरूरी नही है, अगर कोई ऐसा topic है जिसके बारे में आपके circle में लोग बात कर रहे हो लेकिन आपको न पता हो, तो आप सिर्फ उनकी बातों को observe करें और बाद में उस पर research कर के उसकी जानकारी लें | जब आप लोगों से बात करते हैं तो सिर्फ बोलना ही जरूरी नही होता है, कई बार सुनने से भी आपको बहुत फायदा मिलता है |



  • Know your superpower


हम सभी में कोई ना कोई ऐसी skill होती है, जो हमारी superpower होती है, उस में हम माहिर (या almost भी चलेगा) होते हैं | ये writing, communication, marketing, etc. जैसी कोई भी skill हो सकती है | ये जानने के लिए जरूरी है कि पहले आप खुद को जानें और फिर आपकी जो power है उस पर work कर के उसको अपनी superpower बनायें | 


अक्सर हम सोचते हैं कि हमे कई सारी चीज़े सीखनी चाहिए और सब में perfect बनना है, लेकिन ऐसा नही है, अगर हम जिस चीज़ में अच्छे हैं उसी पर अपनी पकड़ strong करें और उसमे expert बनें तो हमारी professional growth के chances ज्यादा हो जाते हैं और साथ में आपके colleagues को भी पता होता है कि कौन से work के लिए आप पर dependent हुआ जा सकता है | 



  • Find your Tribe


ये term “find your tribe” आपने social media पर काफ़ी देखा होगा basically इस term का मतलब होता है कि आप अपने जैसे लोगों के साथ hangout करते हैं, उनके साथ एक group की तरह रहते हैं, etc. जब हम एक professional term में इसकी बात करते हैं, तो इसका मतलब है कि आप company में उन लोगों से connected होते हैं, जिनके area of interest और knowledge आप से मिलते हैं |


जब आप अपने tribe में रहते हैं तो आप उनसे भी काफी कुछ सीखते हैं, जैसे अगर कोई new course कर रहा है तो आप भी उसके बारे में जान पाएंगे या फिर अगर आपके area of interest में कोई new update आता है तो उसकी जानकारी भी आपको मिलती है | हमारा tribe हमारा group होता है, जहाँ हमे healthy और fun way में सीखने को मिलता है |



  • Online and organic


हम ने अब तक जितने भी points discuss किये है वो offline mode में ज्यादा है, लेकिन अपनी branding के लिए सिर्फ offline ही नही online modes भी equally जरूरी हैं | जब हम offline mode में किसी से अपने views share करते हैं, तो हमे पता होता है कि किस से हम बात कर रहे हैं, लेकिन online mode में हम complete strangers के साथ अपने thoughts share कर रहे होते हैं |


Online modes के through जब हम अपनी branding करते हैं तो वो थोड़ी slow होती है, जैसे हमे अपना tribe जल्दी नही मिलता है, लेकिन जो growth होती है वो organic होती है, क्योंकि कई बार strangers ही हमारे best advisors बन जाते हैं |



एक organization में कई लोग होते हैं, लेकिन इतने लोगों में अपनी growth के लिए भीड़ से अलग दिखना पड़ेगा, stand out करना पड़ेगा और ये आप personal branding के through कर सकते हैं | लेकिन ये बात भी याद रखनी जरूरी है ये एक लम्बा process है, इसी लिए patience रखना बहुत जरूरी है, बाकि ऐसी ही tips और suggestions के लिए #meetworks तो है ही ना, so that you can #startyourdreamcareer हमारे साथ |  



 

जानें #Meetworks के बारे में :


#Meetworks” एक ऐसा platform है, जिसके द्वारा employers और job seekers आपस में connect कर सकते हैं | इसमें job seekers को “jobs near me”, “ratings & reviews”, “Call HR”, etc. जैसे features मिलते हैं | जिसकी help से वो अपने location के पास की companies के बारे में सारी details जान सकते है, जैसे वहां का माहौल, salary, company females के लिए कितनी safe है, etc. और ये सभी information company के employees द्वारा दी जाती है जो इन्हें verified बनाता है | इन jobs के लिए लिए apply करने से पहले आप company को direct contact भी कर सकते हैं |


वहीं employers को #Meetworks उनकी company के पास मौजूद job seekers को locate करने में help करता है | “Job invite” जैसे feature के द्वारा employer, app users के profile देख कर उनको interview के लिए direct invite भी भेज सकते हैं |


#Meetworks का aim youth को nearby और verified opportunities provide करना है और इसी लिए ये सारे features और information free of cost होती हैं, which means कि इसके कोई charges नहीं लगते हैं और हम नहीं चाहते कि भाषा हमारे और हमारे users के बीच problem बने इसीलिए दी गयी information Hinglish (Hindi + English) भाषा में होती हैं, जिसे users आसानी से समझ सकें |


#Meetworks “Medha” द्वारा support किआ जाता है, जो कि एक not for profit organization है और इसका mission youth को “life after school” के लिए prepare करना है | Medha believes कि youth को बिना किसी भी भेद भाव के equal opportunities मिलनी चाहिए और #Meetworks उसका एक प्रयास है | Medha के और भी कई programs जैसे मेधावी, स्वपूर्ण और स्वारंभ, इसी aim के लिए work करते है |


#Meetworks पर available jobs के बारे में जानने के लिए इस link पर click करें :







86 views0 comments

Recent Posts

See All
bottom of page